Home Internet Internet Kaise Chalta Hai । जानें कि इंटरनेट कैसे काम करता है।...

Internet Kaise Chalta Hai । जानें कि इंटरनेट कैसे काम करता है। 3 Interesting Fact

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Internet Kaise Chalta Hai। इस आर्टिकल से संबंधित सभी जानकारी मैं देनेका प्रयास करूंगा ओर साथ ही इससे मिलते जुलते टॉपिक्स की भी जानकारीकी लिंक मैं बीच बीच मे दे रहा हु।

आप उसे जाकर भी पढ़ सकते है।मुझे विश्वास है कि आपको ये ओर मेरे बाकी आर्टिकल भी बहुत पसंद आएंगे। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करनेके लिए बिल्कुल भी संकोच न करे.दोस्तो मैं ऐसेही अलग अलग नए नए आर्टिकल जो जानकारी से परिपूर्ण होते है.Internet Kaise Chalta Hai

वो अपने इस ब्लॉग पर डालते रहता हूं अगर आपने उसकी नोटिफिकेशन पाना चाहते है तो हमारे फेसबुक इंस्टाग्राम account को जरूर फॉलो करें । हम वहां अपने नए ब्लॉग की नोटिफिकेशन अपडेट करते रहते है । तो चलिए अब बिना किसी देरीक़े अपने इस आर्टिकल Internet Kaise Chalta Hai को शुरू करते है.

दिन हो या रात, हममें से हर कोई लगातार इंटरनेट की जरूरत में है। अब बिना इंटरनेट के रहना मुश्किल है। आपको व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम और अन्य सोशल मीडिया तक पहुंचने के लिए इंटरनेट की जरूरत है। आदमी बिना भोजन और पानी के कुछ समय बिता सकता है, लेकिन इंटरनेट के बिना समय बिताना बहुत मुश्किल है।

Internet Kaise Chalta Hai

इंटरनेट मानव जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है। टिक टिक टिक टाइप करके आदमी अर्थात इंसान इस दुनिया के किसी भी कोने में जा सकता है। हम इंटरनेट पर दो शब्द टाइप करते है और इंटरनेट हमारे लिए ज्ञान का भंडार खोल देता है ।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की आखिर ये इंटरनेट काम कैसे करता है और ये इंटरनेट आखिर है क्या ? तो चलिए आज इसका पता लगते है।

दोस्तों, इंटरनेट सरल शब्दों में, डेटा का आदान-प्रदान है, डेटा का एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानांतरण, इंटरनेट का उपयोग उपयोगी कहा जा सकता है, लेकिन यह एक्सचेंज कैसे है ? आइए अब इस डेटा के आदान-प्रदान के बारे में जानें।

इंटरनेट कैसे काम करता है? How Internet Works ?

दोस्तों, हमारी पृथ्वी पर कुछ केबल एक देश से दूसरे, एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप, एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप से जुड़ी होती हैं। ये केबल उस देश के सर्वर से जुड़े होते हैं। इन केबलों को ऑप्टिक फाइबर केबल या पनडुब्बी केबल अर्थात सबमरीन केबल कहा जाता है।

यह क्या करता है, इसे समझने के लिए एक सरल उदाहरण देते है , यदि आप किसी विषय के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप बस Google शुरू करें और उस विषय पर कीवर्ड टाइप करें, जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं।

टाइप किया गया कीवर्ड या फिर search query Google के सर्वर पर जाता है और वहां से सारी जानकारी आपके पास ले जाता है। अब मान लेते हैं कि आपने Google पर जिस जगह से टाइप किया है वह स्थान A है और Google का सर्वर b है। a से b तक जाने का एक रास्ता है जिस तरह से ऑप्टिक फाइबर केबल कहा जाता है। ( Internet Kaise Chalta Hai )

इसे पनडुब्बी केबल अर्थात सबमरीन केबल कहा जाता है।आप सोच रहे होंगे कि Google आपकी सभी जानकारी कहां संग्रहीत करता है या Google की जानकारी कहां संग्रहीत की जाती है। google का गोडाउन कहा है।

गोडाउन क्या है इसे सीधी भाषा में सर्वर कहा जाता है। इंटरनेट का जो मार्ग है अर्थात ऑप्टिक फाइबर केबल या फिर सबमरीन केबल का नेटवर्क समुद्र के द्वारा पूरे पृथ्वी पर फैला होता है, जैसे एक मकड़ी का जाल फैला होता है वैसेही ।

बड़े बड़े देश में कुछ बड़ी कंपनियों के मालिकोने अपने अरबो खरबो पैसोंका का निवेश अर्थात investment करके यह ऑप्टिक फाइबर केबल का नेटवर्क दुनिया भर में और इस पृथ्वी पर समुद्री मार्गोंसे फैलाया हुआ है।

यह ऑप्टिक फाइबर केबल हमारे देश में कुछ प्रमुख स्थानों जैसे मुंबई, कोच्चि, चेन्नई, कोलकाता से जुड़े हैं। बाहरी देशोंसे आने वाले यह ऑप्टिक फायबर केबल इन मुख्य शहरों से जुड़े हुए हैं। ( Internet Kaise Chalta Hai )

अब, जब तक यह इंटरनेट केबल हमारे देश में नहीं पहुंचता है, तब तक तीन और प्रकार की कंपनियां इंटरनेट सुविधाएं प्रदान करती हैं।

1) टीयर 1 कंपनी –

( Internet Kaise Chalta Hai ) इस प्रकार की कंपनी पूरी दुनिया में ऑप्टिक फाइबर केबल का एक नेटवर्क बनाती है, यानी सबमरीन केबल एक देश से दूसरे देश में जुड़ती है, यानी एक से दूसरे में, केबल द्वारा, और एक बहुत बड़े ऑप्टिक फाइबर के नेटवर्क का निर्माण करती है।

दोस्तों, इंटरनेट पूरी तरह से मुफ्त है। अब आप तक पहुँचते पहुँचते कैसे paid होता है अर्थात उसके कैसे आपको पैसे देने होते है इसकी जानकारी आपको देता हु।

टियर १ कम्पनी ने अपने अरबो खरबो रुपये लगा कर जो ऑप्टिक फायबर केबल का अर्थात सबमरीन केबलका जो नेटवर्क बनाया है अर्थात जो जाल बनाया है उसके मैंटेनैंस के लिए जो भी पैसा लगता है वोही आपके इंटरनेट के प्रीपेड चार्जेस होते है।

इस ऑप्टिक फाइबर की मोटाई आपके बालों की मोटाई से भी पतली होती है। लेकिन फिर भी इतनी पतली केबल के माध्यम से 100 जीबी प्रति सेकंड की बैंडविड्थ गति हमें प्राप्त होती है । ( Internet Kaise Chalta Hai )

दोस्तों, रिलायंस ने पूरे एशिया, अफ्रीका और यूरोप में ऑप्टिक फाइबर केबल के अपने नेटवर्क का विस्तार किया है, जिसमें 40 टेराबाइट की गति है। अर्थात रिलायंस भी एक टियर १ कंपनी है।

2) टियर टू कंपनी

टियर १ कम्पनी के ऑप्टिक फाइबर का नेटवर्क जैसेही अपने भारत के मुख्य शहरों तक अत है अब यही से टियर २ कम्पनी का काम शुरू होता है। इन कम्पनी में वोडाफोन , जिओ , आईडिया , एयरटेल अन्य कम्पनी का समावेश है। ( Internet Kaise Chalta Hai )

इन कम्पनिओने अंडरग्राउंड जमीन में ऑप्टिक फायबर का नेटवर्क बनाया है। इन कम्पनिओने एक राज्य से दूसरे राज्य और एक शहर से दूसरे शहर और आपके आस पास अपने ऑप्टिक फाइबर केबल का नेटवर्क बनाया है.

ये कंपनियां टीयर वन कंपनी से प्रति जीबी जीबी की दर से इंटरनेट खरीदती हैं और इसे अपने खुद के कुछ कमीशन कमीशन के पैसे छोड़कर आप को बेचती हैं । मतलब वही 200 में प्रति दिन 1 जीबी की योजना,

3) टियर ३ कंपनी

इन कंपनियों के पास भी टियर 2 कंपनियों की तरह पूरे देश में ऑप्टिक फायबर का नेटवर्क और अपने स्वयं के टॉवर हैं। ये कंपनियां टियर २ से इंटरनेट सेवाएं खरीदती हैं और उन्हें आपको बेचती हैं।( Internet Kaise Chalta Hai )

दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि रिलायंस ने जब पहले 4G सेवा शुरू की थी उसके पांच साल पहलेही Reliance Jio ने भारत में 4G सेवा शुरू करने के लिए , Reliance ने पूरे भारत में और भारत के बाहर भी उच्च तकनीक भूमिगत फाइबर ऑप्टिक्स का एक नेटवर्क बना रहा था ।

दोस्तों, उपग्रह के द्वारा इंटरनेट सेवा प्रदान नहीं की जाती है. यह सेवा ऑप्टिक फाइबर केबल के माध्यम से आपके देश तक पहुंचती है और फिर आपके देश में इसे कई ऑपरेटरों में विभाजित कि जाती है और फिर यह आपके आस-पास के टावरों में चला जाता है।

इंटरनेट की गति कम अधिक कैसे ?

दोस्तों अगर आपके आस पास अर्थात आपके घर के आस पास Reliance Jio टॉवर है और उस टॉवर की स्पीड 100 एमबीपीएस है, तो टावर की स्पीड 100 एमबीपीएस होने पर आपको कितनी स्पीड मिलेगी और अगर उसी क्षेत्र में एक ही कंपनी के टावर के सैकड़ों उपयोगकर्ता हैं उस कंपनी की इंटरनेट सुविधा धीमी होगी लेकिन अगर टॉवर की गति अधिक है और उपयोगकर्ताओं की संख्या कम है तो गति अधिक होगी।

( Internet Kaise Chalta Hai ) दोस्तों, भारत में घरेलू इंटरनेट सुविधाओं को सुरक्षित करने के लिए निक्सी न्यूट्रल इंटरनेट एक्सचेंज ( N I X I – NEUTRAL INTERNET EXCHANGE ) नाम का एक संगठन स्थापित है ।

अगर किसीको अर्थात किसी भारतीय को भारत के सम्बन्ध में कुछ जानकारी हासिल करनी होती है तब वह जानकारी ऑप्टिक फाइबर केबल के माध्यम से भारत में प्रेषित की जाती है। ताकि भारतीय, यानी भारतीय उपयोगकर्ता को , उच्च इंटरनेट गति प्राप्त हो सकें।

इन संस्थाओमे इंटरनेट सेवा देने वाली कम्पनी और आय एस पी इनका समावेश होता है। आधार कार्ड, पैन कार्ड, जैसा महत्वपूर्ण डेटा दूसरों को अर्थात इतर देशो तक नहीं पहुंचे इसीलिए NIXI का निर्माण हुआ है।

( Internet Kaise Chalta Hai ) दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि क्यों कभी-कभी सारी इंटरनेट सुविधाएं बंद हो जाती हैं और गति कम हो जाती है? ऑप्टिक फाइबर केबल समुद्र और जमीन से पूरी पृथ्वी पर फैली हुई है अगर यह टूट जाती है, तो तब ऐसी समस्या पैदा हो जाती है ।

जब टीयर वन कंपनियां समुद्र और अंतर्देशीय से ऑप्टिक फाइबर केबल फैला रही होती हैं, तो वे एक केबल नहीं बल्कि अधिक केबल के साथ फैलती हैं ताकि एक टूट जाए तो दूसरी तरफ से काम शुरू होजाये और इस कारण आपको रखरखाव के कारण इंटरनेट के लिए भुगतान करना होता है ।

इस ऑप्टिक फाइबर का जीवन 25 वर्ष से अधिक नहीं है, इसलिए आपको रखरखाव के नाम पर इंटरनेट ऑपरेटर का भुगतान करना होता है । ( Internet Kaise Chalta Hai )

दोस्तों, तो इस तरह इंटरनेट की दुनिया कैसे काम करती है। आपको बस इतना करना है कि आप इसका आनंद लें। आप इंटरनेट पर मिलने वाली जानकारी का उपयोग करके अपने ज्ञान को जोड़ सकते हैं। यदि आप इस जानकारी को पसंद करते हैं और समझते हैं, तो कृपया हमें टिप्पणियों में बताएं। धन्यवाद

आपको क्या सीखने मिला

दोस्तो आज आपको हमारे इस जानकारी से परिपूर्ण आर्टिकल से क्या सीखने मिला ? क्या इस आर्टिकल से आपके संकोच मिट गए ? वैसे तो मै आशा करता हु आपको Internet Kaise Chalta Hai यह आर्टिकल पसंद आया होगा क्युकी इसमे सभी जानकारी मुद्दे अनुरूप लिखी गयी है ।

लेकिन फिर भी अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी लगी हो तो वो नीचे कमेंट बॉक्स में बताए साथ ही आगर आपको कुछ भी संकोच या प्रश्न हो तो आप पूछ सकते है । मैं आपके संकोच को दूर करनेकी ओर प्रश्नों का उत्तर देनेका प्रयास करूंगा.आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमे येभी जरूर बताएं. ( Internet Kaise Chalta Hai )

इसीके साथ आप हमारे मोटिवेशन के ब्लॉग भी पढ़ सकते है जिसकी लिंक यह रही.Motivation
ओर इसीके साथ अगर आप ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते है तो हमारा MAKE MONEY ONLINE इस केटेगरी भी जरूर विजिट करे । इसीके साथ आप हमारे Biology के ब्लॉग भी पढ़ सकते है Biology

हमारे इस (Internet Kaise Chalta Hai) आर्टिकल को पढ़ने के लिए बहोत बहोत शुक्रिया । तो मिलते है हमारे ऐसेही किसी नए INFORMATIVE आर्टिकल में । धन्यवाद ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Family Stay Connected

0FansLike

Most Popular

शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी जो कोई नहीं बताएगा । Sperm Information In Hindi । Best 8 Points

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी...

क्या रामायण से जुड़े हुए ये ६ रहस्य आपको पता है ? पढते ही चौंक जाओगे

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है क्या रामायण से...

सर्फ दो घंटो की बिजली कटौती में मुंबई परेशांन ? आखिर क्यों ?

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है सर्फ दो घंटो...

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में ।...

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Corona Ka Ilaj...