Home General full form of pok in hindi - full form of pok -...

full form of pok in hindi – full form of pok – pok क्या है detail information .Pok का 1 मतलब और पूरी वजह।

आज के इस full form of pok in hindi मैं आप सभी का स्वागत है मैं . आपको pok ka ful form kya hai इसकी पूरी जानकारी तथा इसके पीछे का इतिहास detail मैं बताने वाला हूं . तो pok information ,तथा जानकारी लेने के लिए बने रहे.

जैसे कि आप सब लोग जानते हैं कि 15 अगस्त 1947 में भारत को आजादी मिली थी . लेकिन उसको पाने के लिए भारत को कई टुकड़ों में विभाजित किया गया .भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के बाद भारत और पाकिस्तान अलग होकर उसमें कई सीमाएं तय की गई.

full form of pok in hindi

भारत का अभिन्न अंग जिसे कश्मीर के नाम से जाना जाता है उसमें से pok एक है . असल में pok यह शब्द जम्मू और कश्मीर के राज्यों से जुड़ा हुआ है .कश्मीर का कुछ हिस्सा जो असल में भारत का हिस्सा है उस पर पाकिस्तानियों ने अपनी सेना भेजकर वहां कब्जा कर लिया है .इस भारतीय कश्मीर के भाग को pok कहां जाता है pok full form Pakistan occupied Kashmir यह है .

pok ka full form in Hindi का मतलब पाकिस्तान का वह हिस्सा जिस पर पाकिस्तान ने कब्जा कर लिया है यह होता है .कुछ लोग pok full form in Hindi यहां सवाल पूछते हैं जिसका जवाब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर तथा पाक अधिकृत कश्मीर ऐसा होता है.

full form of pok in hindi अर्थात पाकअधिकृत कश्मीर है . pok full form – Pakistan occupied Kashmir यह इसका full form है .

pok history in Hindi पीओके का इतिहास – (full form of pok in hindi)

दोस्तों आप सभी को यह बात भलीभांति पता होगी कि भारत और कश्मीर एक ही थे इसका बटवारा 1947 के 15 अगस्त को हुआ था . तभी से भारत और पाकिस्तान के बीच में कश्मीर एक विवादित मसला रहा है.

दोस्तों कश्मीर इस पृथ्वी की सबसे खूबसूरत जगह में से एक है .कुछ लोग कश्मीर के pok कुछ हिस्से को heaven अर्थात स्वर्ग कहते हैं .लेकिन पाकिस्तान के खुराफाती कार्यों की वजह से कश्मीर का कुछ भाग पाक अधिकृत हो चुका है जिसे Pakistan occupied Kashmir -pok अर्थात पाक अधिकृत कश्मीर ऐसा कहते हैं.

जब 1947 में भारत को आजादी मिली तब अंग्रेजों ने भारतीय विरासत महाराजाओं के सामने एक प्रस्ताव रखा उस प्रस्ताव के तहत या तो वह राज्य और राजा महाराज अपनी विरासत को लेकर भारत में विलीन हो जाएं या फिर अपना अलग राज्य और देश बनाए .

full form of pok in hindi - full form of pok - pok क्या है detail information .Pok का 1 मतलब और पूरी वजह।
full form of pok in hindi – full form of pok – pok क्या है detail information .Pok का 1 मतलब और पूरी वजह।

इस प्रस्ताव को शुरुआती दौर में जम्मू और कश्मीर के अंतिम राजा महाराजा हरि सिंह इन्होंने भारत में विलीन होने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया और जम्मू कश्मीर को एक अलग देश बनाया .लेकिन पाकिस्तान भी जम्मू-कश्मीर पर अपना कब्जा करना चाहता था .पाकिस्तान ने भी जम्मू कश्मीर के राजा को पाकिस्तान में विलीन होने का प्रस्ताव दिया .

लेकिन वह प्रस्ताव हरि सिंह ने ठुकरा दिया .महाराजा हरि सिंह को जम्मू और कश्मीर की राजगद्दी विरासत में मिली थी .हरि सिंह के चार शादी होने के कारण उन्हें चार बीवियां थी और उनसे उन्हें एक पुत्र भी था. पाकिस्तान को कश्मीर पर और वहां की जनता पर हुकूमत करनी थी .

इसीलिए उसने जम्मू कश्मीर की कुछ विरासत व को पाकिस्तान में विलीन होने का प्रस्ताव दिया .जिस जगह पर ज्यादा मुसलमान थे वह पाकिस्तान में विलीन हो गया लेकिन हरि सिंह ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया इसी वजह से हरि सिंह को बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा.

The dissolution of Jammu Kashmir in India – (full form of pok in hindi)

जम्मू और कश्मीर का भारत में विलय – (full form of pok in hindi)

पाकिस्तान के विलय प्रस्ताव को ठुकराने के वजह से पाकिस्तान बहुत नाराज होगया . लेकिन जम्मू कश्मीर को पाकिस्तान में विलीन करने के लिए पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर पर हमला बोल दिया। जिसके कारण राजा हरि सिंह को भारत से सैन्य मदद मांगनी पड़ी.

भारत में 1 शर्ते मदद करने का प्रस्ताव रखा .अगर जम्मू कश्मीर भारत में विलीन होने के प्रस्ताव को मंजूर करें तभी भारत मदद करने के लिए तैयार था . इस प्रस्ताव को राजा हरि सिंह ने कबूल किया रातों-रात जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा हो गया.

तभी भारतीय वायुसेना जम्मू और कश्मीर में पहुंची और उसने पाकिस्तानी सेना को पे हमला बोल दिया और पाकिस्तानी सेना को जम्मू कश्मीर से खदेड़ना चालू कर दिया। जब यह सब चल रहा था तब हमारे प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी इस मुद्दे को सुलझाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में लेकर गया और इस मुद्दे पर जनमत करने की बात की।

जब हमारे देश से अर्थात जम्मू कश्मीर की जगह पर अपनी भारतीय सेना पाकिस्तानी सेना को खदेड़ रही थी और उसको कश्मीर से भगा रहे थे तभी हमारे प्यारे जवाहरलाल नेहरु जी ने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र अर्थात यूनो में लेकर गए जो सबसे बड़ी गलती मानी जाती है.

जिसके कारण 5 जनवरी 1949 को ceasefire सीजफायर का ऐलान हुआ .जिसके तहत जो सेना जहां पर लड़ रही थी वहां रुक गई और उसी जगह से एलओसी loc बना दी गई . जिसे अर्थात वहां एक सीमा रेखा बना दी गई . इसके कारण कुछ कश्मीरी हिस्से पर पाकिस्तान कब्जा किए बैठ गया . जिसे आज pok अर्थात Pakistan occupied Kashmir कहां जाता है .

birth of article 370 and 35a in Jammu and Kashmir-(full form of pok in hindi)

जम्मू और कश्मीर में आर्टिकल 370 और 35a का जन्म – (full form of pok in hindi)

इस सारी घटना के बाद भारतीय संविधान को लिखने की तैयारी शुरू हो गई थी . और तभी 17 अक्टूबर 1947 में गोपाल स्वामी आयंगर ने संसद में यह स्टेटमेंट दीया कि जब तक आधे जम्मू और कश्मीर पर पाकिस्तान का कब्जा है . तब तक वह पूरा संविधान कैसे लागू करें.

आधे भारतीय इधर और आधे भारतीय उधर है . इस परिस्थिति में वहां अर्थात जम्मू और कश्मीर में संविधान पूरी तरह से लागू नहीं हो सकता और इस तरह से वहां भारतीय संविधान लागू नहीं हुआ .

इस पेचीदा राज्य के पेचीदा दुर्घटना तथा परिस्थितियों के अनुरूप इसे एक अलग और विशेष राज्य का दर्जा प्रदान किया गया .पर किसी विशेष राज्य की दर्जा के वजह से वहां अर्थात पीओके और जम्मू और कश्मीर में आर्टिकल 370 लागू किया गया.full form of pok in hindi

आर्टिकल 370 के तहत भारतीय संसद को जम्मू कश्मीर पर रक्षा विदेश मामले और संचार बंदी के कानून और कई तरह के कानून लगाने से पहले उसके राज्य सरकार की मंजूरी लेनी बहुत जरूरी होती है. (full form of pok in hindi)

कुछ वक्त बाद pok और जम्मू एंड कश्मीर के मुद्दे पर 1952 में भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी और शेख अब्दुल्ला के बीच में एक प्रस्ताव पर चर्चा हुई .एक agreement sign हुआ जिसे Delhi agreement भी कहा जाता है .जिसके अंतर्गत अनुच्छेद 35 a को pok और जम्मू एंड कश्मीर के साथ जोड़ा गया.

लेकिन कुछ समय पहले ही हाल ही में भारतीय सरकार द्वारा जम्मू और कश्मीर तथा Pakistan occupied Kashmir अर्थात pok के 370 और 35a को हटा दिया गया है. लेकिन यह एक temporary provision for the statement of the Jammu Kashmir था.

अर्थात एक ऐसा कानून जो वहां की जनता और राज्य पर अस्थाई तौर पर हो जिसको कभी भी कोई भी अलग सरकार हटा सकती हो . आपने इस आर्टिकल में history of pok की पूरी जानकारी ली है . तथा pok full form and meaning , pok full form in Hindi भी जान लिया है .

अब pok full form क्या होता है तथा pok ki full form in Hindi क्या है यह जानकारी लेते हैं.

pok full form Pakistan occupied Kashmir इसे कहते हैं और pok ka full form in Hindi पाक अधिकृत कश्मीर यह है .

ok ka full form in hindi ? ओके का फुल फॉर्म क्या है ? ok के 4 अलग मतलब

pok की borders तथा सीमाएं – (full form of pok in hindi)

पाकिस्तानी पंजाब एवं उत्तर पश्चिमी सीमांत प्रांत के पश्चिम में अफगानिस्तान के वाखान गलियारे से चीन के जी जिन ज्ञान व्याघ्र स्वायत्त क्षेत्र से उत्तर और भारतीय कश्मीर के पूर्व से लगती है .full form of pok in hindi

pok (Pakistan occupied Kashmir)को दो हिस्सों में विभाजित किया गया है .

1) आजाद कश्मीर और दूजा
2) गिलगित और बालटिस्तान

पाकिस्तान के pok मैं कुछ हिस्से पर सियाचिन का भी कब्जा है . pok के आजाद कश्मीर में लगभग 45 लाख लोग रहते हैं .अर्थात आजाद कश्मीर की आबादी 45 लाख है .
जिसका total area अर्थात संपूर्ण क्षेत्रफल 13300 वर्ग किलोमीटर है .

आजाद कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद है .इसमें 8 जिले और 19 तहसील मौजूद है .

दोस्तों pok full form Pakistan occupied Kashmir और pok full form Hindi mai तथा pok ka ful form kya hai ऐसे कई सवालों का जवाब आपको इस pok detail information ने मिल गया होगा .full form of pok in hindi

तथा what is the full form of pok और पाक अधिकृत कश्मीर का इतिहास अर्थात pok detail history भी आपको पता चल गई होगी.

अगर आपको यह article full form of pok in hindi / pok full form पसंद आया होगा तो अपने दोस्तों के साथ ही इसे जरूर share करें .और अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें . इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी शंका आपके मन में हो तो हमें जरूर बताएं .हम उसका जरूर रिप्लाई करेंगे .

New hindi movies online download 2020 latest

धन्यवाद और आपको इससे क्या सीखने को मिला आपकी जानकारी में कुछ बढ़ोतरी हुई या नहीं यह भी हमें जरूर बताएं

आपको क्या लगता है ? क्या भारत और पाकिस्तान कभी एक रह सकते थे ? अगर भारत सर्कार और पाकिस्तानी सर्कार जितना पैसा अपनी फौजों को मजबूत बनाने में लगाती अगर उतना पैसा वो अपने देश को सुधरने के लिए लगाती तो आज भारत और पकिस्तान पुरे विश्वमें सबसे प्रगतिशील देशो में तथा प्रगट देशोमेसे एक होता।

बटवारे के समय शिर्मन जीना जी की जिद्द की वजहसे हमरे मुस्लिम भाईजान हमसे दूर हो गए ,किस हद तक ये राजनैतिक नेताओंने हमसे हमरे भाई बेहेन छीन ली आपको क्या लगता है। मुझे तो यह लगता है की अगर भारत पाकिस्तान अलग ना होता तो आज pok ये विषय ही जन्म न लेता लेकिन गांधीजी ने भी भारत के बटवारे को सहयोग किया और समर्थन बतया। क्या बटवारा होनाही सबके लिए उपाय होता है।

इस बटवारे और राजनैतिक नेताओंकी राजनीतिसे भारत और पाकिस्तान पिछड़ रहे है। पाकिस्तान में क्या सिर्फ बुरे लोग ही है। क्या वहांकी जनता अमन नहीं चाहती ?

वो भी देश अमन और प्रगत होने ली इच्छा रखता है , लेकिन राजनीती जो १९३०-१९४७ तक हुई उसी वजहसे आज यह हालत है। मई तो भारत और पाकिस्तान के बटवारे के पीछे सिर्फ राजनैतिक नेताओंकी गलती ही मानता हु आप क्या सोचते है जरुरु बताये।

धन्यवाद !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Family Stay Connected

0FansLike

Most Popular

शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी जो कोई नहीं बताएगा । Sperm Information In Hindi । Best 8 Points

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी...

क्या रामायण से जुड़े हुए ये ६ रहस्य आपको पता है ? पढते ही चौंक जाओगे

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है क्या रामायण से...

सर्फ दो घंटो की बिजली कटौती में मुंबई परेशांन ? आखिर क्यों ?

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है सर्फ दो घंटो...

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में ।...

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Corona Ka Ilaj...