Home Covid 19 Safety Guidlines Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर...

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में । Best 6 Tips

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? इससे मिलते जुलते टॉपिक्स की भी जानकारीकी लिंक मैं बीच बीच मे दे रहा हु।

आप उसे जाकर भी पढ़ सकते है । मुझे विश्वास है कि आपको ये ओर मेरे बाकी आर्टिकल भी बहुत पसंद आएंगे। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करनेके लिए बिल्कुल भी संकोच न करे.दोस्तो मैं ऐसेही अलग अलग नए नए आर्टिकल जो जानकारी से परिपूर्ण होते है.Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ?

वो अपने इस ब्लॉग पर डालते रहता हूं अगर आपने उसकी नोटिफिकेशन पाना चाहते है तो हमारे फेसबुक इंस्टाग्राम account को जरूर फॉलो करें । हम वहां अपने नए ब्लॉग की नोटिफिकेशन अपडेट करते रहते है । तो चलिए अब बिना किसी देरीक़े अपने इस आर्टिकल Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ?

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen

कोरोनावायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ?

दोस्तों कोरोनावायरस से संक्रमित होने पर ज्यादातर अस्पताल पेशेंट को अस्पताल में 2 से 4 दिनों तक रखते हैं. लेकिन अगर संक्रमित व्यक्ति की तबीयत गंभीर स्वरूप धारण कर लेती है तब अस्पताल ज्यादा जोखिम नहीं उठाते हुए संबंधित पेशेंट को अस्पताल में 14 दिनों तक भर्ती भी कर सकती है.

लेकिन अगर कोरोनावायरस संक्रमित व्यक्ति इस महामारी के स्टेज वन में ही अपने आप को अस्पताल में भर्ती करता है तो उसको रोना संक्रमित व्यक्ति के 2 से 4 दिनों में ही अस्पताल से छुट्टी होने की संभावना बढ़ जाती है . अगर आप उन लोगों में से हैं जिन्हें अस्पताल में 2 या 4 दिनों के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी है.

तो अब घर रहकर आप घरेलू उपचारों से और अस्पताल से मिली हुई दवाइयों से कैसे जल्दी से जल्दी अपने शरीर को रिकवर अर्थात अपने शरीर को कैसे जल्दी ठीक कर सकते हैं इसकी जानकारी में देने का प्रयास करूंगा. दोस्तों यह जानकारी में इसलिए दे पा रहा हूं क्योंकि मेरी मां कोरोनावायरस से संक्रमित हुई थी और उनके शरीर में कुछ भी गंभीर बदलाव ना होने के कारण उन्हें 4 दिनों बाद छुट्टी दे दी गई थी.

और फिर आने वाले 14 दिनों तक हमने मेरी मां को जल्दी से जल्दी ठीक करने के लिए कौनसे-कौनसे घरेलू नुस्खे और अस्पताल की दवाइयों का उपयोग किया और कैसे किया इसकी मैं अपने अनुभव से जानकारी देने का प्रयास करूंगा. आशा करता हूं आपको यह लेख पसंद आएगा.

1) अस्पताल से घर लौटने पर क्या करें ?

अस्पताल में भर्ती होने के बाद जब आपको घर जाने के लिए छुट्टी दी जाती है उसके तुरंत बाद ही आपको कहीं ना जाते हुए सीधे घर आ जाना है. क्योंकि अगर आप आस-पड़ोस या किसी के घर में चले गए तो आपकी वजह से बाकी लोगों को कोरोनावायरस का संक्रमण हो सकता है .

इसके लिए पुलिस आप को जिम्मेदार ठहरा सकती है. इसलिए आने वाले 14 दिनों तक आपको घर में ही अपने रूम में मतलब कमरे में रहना है. अस्पताल से घर आने के बाद आपको सीधे अपने कमरे में चले जाना है. और खुद को अपने कमरे में बंद कर देना है.

दोस्तों खुद को बंद कर देना है खुद को डिप्रेशन में नहीं डालना है. आपको कुछ इस तरह से नियोजन करना है अगर आपके परिवार का कोई सदस्य आप तक आता भी है तो आपका उसे संक्रमण ना हो सके. हर कमरे में दो दरवाजे और एक खिड़की तो कम से कम होती ही है.

आपको अपने कमरे में आने के लिए जो दरवाजा होता है उस दरवाजे को बंद कर देना है. मतलब अपने कमरे की एंट्री बंद कर देनी है. और अपने परिवार के बाकी सदस्यों को भी बता देना है कि वह आपसे परस्पर संपर्क ना रखें. फोन मोबाइल के माध्यम से आप से बात करें. आपके इर्द-गिर्द बिल्कुल ना भटके और आपके पास तो कताई ना आए.

2) खुद के कमरे का मैनेजमेंट कैसे करें ?

दोस्तों देखे आप आपको आने वाले कम से कम 10 दिनों तक अपने कमरे में ही बंद रहना है. लेकिन आपको सिर्फ अपने कमरे की एंट्री बंद करनी है बाकी एक सेट और खिड़किया आप खुला रख सकते हैं. मैं तो आपको यही अनुरोध करूंगा कि आप कमरे की एंट्री छोड़कर बाकी खिड़की दरवाजे पूरे खोल दे.

और हो सके तो अपने कमरे में बिना मास के ही काम करें या रहे. तो क्या अस्पताल में आपको निरंतर मास लगाकर ही रखना होता है. जिसके कारण आपको घुटन महसूस होती है. अगर आप अस्पताल में मास्क निकाल दे तो बाकी कोरोनावायरस के जंतुओं आपके शरीर में जाने का भी खतरा रहता है. लेकिन आपके खुद के कमरे में ऐसा कोई खतरा नहीं है.

इसीलिए हो सके तो उसने तेरे बिना मास्क के ही रहे. इसके साथ ही अगर आप के कमरे को लगाकर अलग बाथरूम और लैट्रिन का कनेक्शन होगा तो सोने पर सुहागा ही समझो. क्योंकि ऐसा पाया गया है कि कोरोनावायरस का संक्रमण 50 से 60% तक लैट्रिन से होता है.इसीलिए हो सकते तो अपना कमरा बाथरूम और लैट्रिन सबसे अलग ही रखें.

अपने कपड़े भी धोने के बाद घर के बाहर या कमरे के बाहर ना डालते हुए उसे अपने कमरे तक ही रखें. यह सब बताने का तात्पर्य ही है कि आप जो भी कार्य करना चाहते हैं उसे अपने कमरे के बाहर ना ले जाए उसे कमरे तक ही सीमित रखें. जिससे कोरोनावायरस का संक्रमण आपके कमरे में रहेगा कमरे के बाहर जाकर आपके परिवार के सदस्य को नहीं होगा.

3) खाने पीने का ध्यान कैसे रखें ?

दोस्तों कई लोग मुझसे पूछते हैं कि आपने अपनी मां को कौन सा खाना खिलाया? क्या आपने उन्हें मना कर दिया या उन्होंने अपने कमरे में ही अलग से बनाया ?

मैं आपको यह बता दो कि निरंतर 12 दिनों तक खाना मैंने अपने हाथों से ही बनाया. मैंने मेरी मां को खाना खाने के लिए अलग से थाली पानी का ग्लास कटोरी जैसे आदि सामान उनके रूम में रखवा दिए थे.

और रही बात खाने की तो मेरी मां फर्स्ट फ्लोर पर रह रही थी और हम तीनों मतलब मैं मेरी बहन और पिताजी नीचे वाले ग्राउंड फ्लोर पर रह रहे थे. मेरी मां ने खुद को ऊपर वाले फर्स्ट फ्लोर पर एक रूम में बंद कर लिया था.

तो जब भी खाना बन जाता था मां अपने रूम की थाली कटोरी रूम के बाहर रख देती थी फिर हम लोग एक अलग थाली में खाना लेकर ऊपर जाते थे और उस कटोरी और थाली का खाना मम्मी ने जो थाली कटोरी बाहर रख देती थी उसमें डाल देते थे.

उसके बाद नीचे आने पर थाली और कटोरी को अच्छे से साबुन से धो देते थे. लेकिन हम लोग जब भी खाना देने के लिए जाते थे तब मांस जरूर लगाते थे. अब यह जो मैं प्रक्रिया करता था अगर इसी को आप फॉलो करते हैं तुम मुझे लगता है आपको ज्यादा आसानी होगी.

4) अपनी दिनचर्या कैसे निश्चित करें ?

दोस्तों यह सबसे इंटरेस्टिंग और महत्वपूर्ण प्रश्न मुझसे बहुत लोग पूछते हैं. इसका जवाब मैंने जब मेरी माता जी को पूछा तुम मुझे उन्होंने पूरा डिटेल में इसके बारे में बताया.

उनकी जो भी दिनचर्या थी वह मैं नीचे लिख रहा हूं क्योंकि मेरी मा एक हेल्थ वर्कर थी तो उन्हें पता था कि कोरोनावायरस का संक्रमण होने के बाद घरेलू उपचार कैसे करें और अपनी दिनचर्या कैसे निश्चित करें. अभी जो चेक लिस्ट है वह मैं नीचे लिख रहा हूं.

  • सबसे पहले आपको सुबह जल्दी 6:00 बजे उठ जाना है.
  • उसके बाद आपको ब्रश और जो भी आपके सुबह की प्रातविधि है वह पूरी कर लेनी है.
  • उसके बाद आपको मन की शांति के लिए आप जैसे भगवान को मानते हैं उनके प्रार्थना करनी है.
  • सीधी भाषा में बोले तो आपको मेडिटेशन करना होगा.
  • इसके साथ ही योगासन और हल्का व्यायाम भी करने की जरूरत है. व्यायाम करते हो या ध्यान रखें कि शरीर को ज्यादा तकलीफ देने नहीं है. क्योंकि कोरोनावायरस का संक्रमण होने के बाद आपके शरीर को ज्यादा था आराम की जरूरत होती है.
  • इसके बाद आपको सुबह 8:00 से 8:30 के बीच गरम पानी के नमक के गरारे भी आपको करने हैं. साथ ही सुबह की चाय और उसी के साथ हल्दी और अदरक के साथ गर्म किया हुआ दूध इसका सेवन करना है . संभव हो सके तो सुबह एक या दो फलों का भी आप सेवन कर सकते हैं.
  • 9:00 बजे से पहले आपका नाश्ता हो जाना चाहिए.
  • 10:00 बजे से पहले आपका नहाना हो जाना चाहिए.
  • 12:30 बजे से पहले आपको खाना खा ले रहा है.
  • शाम की चाय आपको 5:00 से 6:00 के बीच लेनी है.
  • शाम को 7:00 बजे से पहले आपको नमक के गर्म पानी के गरारे फिर से करने हैं. किसी के साथ अगर आपके पास वेपर स्ट्रीमर है तो उसका भी उपयोग आपको जरूर करना चाहिए. वेपर स्ट्रीमर का उपयोग आपको दिन में तीन बार सुबह दोपहर और शाम को करना चाहिए.
  • रात में 9:00 बजे से पहले आपको खाना खा लेना है.
  • रात में 10:30 बजे से पहले ही आपको सोना है ताकि आप 7 से 8 घंटे की आरामदायक नींद ले सके.

दिन में आपको जो भी खाली समय मिलने वाला है सच में आपको मोबाइल में ज्यादा ध्यान ना लगाते हुए आपको जो काम करना अच्छा लगता है उसे करना चाहिए.

क्योंकि जब आप कोरोनावायरस से संक्रमित हो जाते हैं तब आप के दिमाग पर भी उसका असर होता है. और ज्यादा समय तक मोबाइल का उपयोग करने के कारण आपके दिमाग में एक जकड़न से महसूस हो सकती है. जिसका विपरीत परिणाम आपके शरीर के स्वास्थ्य पर हो सकता है. इसलिए किताबें पढ़ें यहां कुछ जो आपको लिखना पसंद है वह लिखेगा जो भी आपको काम पसंद है वह करें.

5) कौन-कौन से घरेलू उपचार करें ?

दोस्तों घरेलू उपचार में बहुत सारे तरीके आते हैं लेकिन उसमें से कुछ गिने-चुने और असरदार उपाय मैं आपको बताने के प्रयास करूंगा.

1) गरम पानी के नमक के गरारे ?

आपको एक गिलास पानी को गुनगुना होने तक गर्म करना है उसके बाद उसमें नमक डाल देना है. नमक की मात्रा आप एक से डेढ़ चम्मच रख सकते हैं. उसके बाद उस गुनगुने पानी से आपको गरारे करने हैं. जिसे गर्गल्स भी कहा जाता है. इससे आपके गले को अच्छा सेक मिल सकता है. मतलब आपके गले को गर्माहट मिल जाएगी जिससे आपको थोड़ा आराम मिलेगा.

2) अदरक और हल्दी वाले दूध का सेवन करें

अदरक और हल्दी को अगर आप सही मात्रा में दूध में मिलाकर दूध को पालते हैं तो अदरक और हल्दी के कुछ गुण उस दूध में उतर जाते हैं जो कोरोनावायरस को खत्म करने के लिए बेहद असरदार है. इसके लिए आपको एक ग्लास दूध को उबालना है उसमें आधा चम्मच हल्दी और एक छोटा अदरक का टुकड़ा डालकर उसे उबालना है. और उस उबले हुए दूध का सेवन करना है.

3) अदरक और इलायची वाली चाय का सेवन

जैसे कि सबको पता है चाय पीना कैसे पसंद नहीं है लेकिन अगर उसमें अदरक और इलायची के गुण उतर जाए तो वह कोरोनावायरस को कम करने के लिए असरदार है. इसलिए चाय बनाते हैं उसमें अदरक और इलायची जरूर डालें और उसके बाद वैसे ही चाय का सेवन करें.

4) देसी घरेलू काढ़ा बनाकर उसका सेवन करें.

दोस्तों यह काढ़ा बहुत ही ज्यादा असरदार है . इस काढ़ा को बनाकर इसका निरंतर 12 दिनों तक हम सभी ने सेवन किया था. जिससे सर्दी खांसी बुखार तो कम हुआ ही और उसका अच्छा परिणाम मेरी मां के स्वास्थ्य पर भी दिखा. तब जानते हैं इस काढ़ा को कैसे बनाते हैं.

सबसे पहले आपको तुलसी के 15 से 20 पत्ते लेने हैं उसी के साथ आपको शहद और अदरक भी लेना है.
तुलसी के पत्तों को अच्छे से धोने के बाद उन्हें मिलकर तुलसी के पत्तों का रस निकालना है . उसके बाद उसमें अदरक को मारकर अदरक का रस निकालना है.

ध्यान रखें कि आपको अदरक का छोटा टुकड़ा ही लेना है. अब इसमें शहद आप अपने स्वादानुसार डाल सकते हैं. इस बने हुए काढ़ा को आप को दिन में दो बार लेना है. सुबह और शाम एक एक बार. इसे आप जरूर ट्राई करें.

6) खुद को अच्छा समय दें .

एक बार कोरोनावायरस से संक्रमित होने के बाद शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसे डर नहीं लगा होगा. लेकिन दोस्तों आपको ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है. मैंने ऊपर जो भी सारे उपाय बताएं इनको आपको जरूर अपनाना है.

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप अस्पताल से मिली हुई गोलियों को ना खाए. अस्पताल से मिली हुई सारी दवाइयां आपको समय पर ही लेनी है. लेकिन इन सभी के साथ मैंने बताए हुए कार्यों का भी उपयोग करना है. आपको खुद को समय देना है.

अपने मन के अंदर झांक कर अपने आप से बात करनी है. कुछ समय अकेले में सुबह उठकर और शाम को बिताना है जिससे आपको एक अलग ही मजा और खुशी महसूस होगा. अगर आप दिन भर मोबाइल में लगे रहे तो मैं आपको गारंटी से बता सकता हूं आपके सिर में जकड़न महसूस तो होगी ही साथ ही उसका गलत परिणाम आपके स्वास्थ्य पर होगा.

इसलिए मोबाइल से बाहर निकल कर खुद के लिए समय निकालें. यह सारी बातें मैं अपने अनुभव से और मेरी मां के अनुभवों से बता रहा हूं. इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें. मेरी मां एक सरकारी अस्पताल में परी सेविका है. मतलब वह बाहर हेल्थ वर्कर का काम करती है. लगातार चार बार कोरोनावायरस के बोर्ड में काम करने के बाद उसे करुणा का शिकार होना पड़ा.

लेकिन भगवान की दया से और हमने जो भी जिस प्रकार से मां का ध्यान रखा उससे वह अभी बहुत अच्छी और तंदुरुस्त है. मैंने सारी बातें और कार्य अनुभव से बताया है आप उनका उपयोग जरूर करें. इसके साथ ही मैंने दो आर्टिकल लिखे हैं उसे भी आप जरूर पढ़े .

Corona Hone Par Kya Kare। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद क्या करें ? अनुभव से जानकारी हिंदी में । Best 8 Tips

Corona Virus Se Kaise Bache । कोरोना होने से कैसे बचें ? अनुभव से जानकारी हिंदी में 

आपको क्या सीखने मिला

दोस्तो आज आपको हमारे इस जानकारी से परिपूर्ण आर्टिकल से क्या सीखने मिला ? वैसे तो मै आशा करता हु आपको Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में । यह आर्टिकल पसंद आया होगा क्युकी इसमे सभी जानकारी मुद्दे अनुरूप लिखी गयी है ।

लेकिन फिर भी अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी लगी हो तो वो नीचे कमेंट बॉक्स में बताए साथ ही आगर आपको कुछ भी संकोच या प्रश्न हो तो आप पूछ सकते है । मैं आपके संकोच को दूर करनेकी ओर प्रश्नों का उत्तर देनेका प्रयास करूंगा.आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमे येभी जरूर बताएं. Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में ।

इसीके साथ आप हमारे मोटिवेशन के ब्लॉग भी पढ़ सकते है जिसकी लिंक यह रही.Motivation
ओर इसीके साथ अगर आप ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते है तो हमारा MAKE MONEY ONLINE इस केटेगरी भी जरूर विजिट करे । इसीके साथ आप हमारे Biology के ब्लॉग भी पढ़ सकते है Biology

हमारे इस Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में आर्टिकल को पढ़ने के लिए बहोत बहोत शुक्रिया । तो मिलते है हमारे ऐसेही किसी नए INFORMATIVE आर्टिकल में । धन्यवाद ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Family Stay Connected

0FansLike

Most Popular

शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी जो कोई नहीं बताएगा । Sperm Information In Hindi । Best 8 Points

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी...

क्या रामायण से जुड़े हुए ये ६ रहस्य आपको पता है ? पढते ही चौंक जाओगे

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है क्या रामायण से...

सर्फ दो घंटो की बिजली कटौती में मुंबई परेशांन ? आखिर क्यों ?

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है सर्फ दो घंटो...

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में ।...

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Corona Ka Ilaj...