Home Hindi Blogs आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?

आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ? । इससे मिलते जुलते टॉपिक्स की भी जानकारीकी लिंक मैं बीच बीच मे दे रहा हु।

आप उसे जाकर भी पढ़ सकते है । मुझे विश्वास है कि आपको ये ओर मेरे बाकी आर्टिकल भी बहुत पसंद आएंगे। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो कृपया करके इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करनेके लिए बिल्कुल भी संकोच न करे.दोस्तो मैं ऐसेही अलग अलग नए नए आर्टिकल जो जानकारी से परिपूर्ण होते है.आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?

वो अपने इस ब्लॉग पर डालते रहता हूं अगर आपने उसकी नोटिफिकेशन पाना चाहते है तो हमारे फेसबुक इंस्टाग्राम account को जरूर फॉलो करें । हम वहां अपने नए ब्लॉग की नोटिफिकेशन अपडेट करते रहते है । तो चलिए अब बिना किसी देरीक़े अपने इस आर्टिकल आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?

आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?

सरकार को फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगाना चाहिए। जब मन चाहे तब कोई वीडियो बनाकर उसे व्हाट्सप्प फेसबुक इंस्टाग्राम पे शेयर करके खुदकी पब्लिसिटी करनेवालोंपर और सरकार से किसीभी तरह की इजाजत न लेके वृत्त और किसीभी प्रकार की जाहिरात प्रकाशित करने वाले फर्जी सोशल मीडिया पर सरकार ने साइबर क्राइम की मदद से इनपर करवाई होनी ही चाहिए।

प्रिंट मीडिया और मान्यताप्राप्त ऑनलाइन न्यूज़ मीडिया पर इसका गलत प्रभाव अर्थात विपरीत प्रभाव हो रहा है। इन फर्जी पोर्टलके वजहसे प्रिंट मीडिया और न्यूज़ चॅनेल बदनाम हो रहे है।

यह देखा गया है कि सरकार द्वारा जारी निर्देश और निर्देश आम जनता तक सही तरीके से नहीं पहुंच रहे हैं। अधूरी जानकारी के साथ जनता तक पहुँचने की जल्दबाजी में जनता को गलत जानकारी प्रसारित की जा रही है और जनता को यह दिखाने के लिए कि आपका पोर्टल कितना अच्छा काम करता है।

इस संबंध में, सरकार ने सोशल मीडिया के इस कृत्य की निंदा भी की है। लेकिन ऐसे फर्जी पोर्टल्स को साइबर क्राइम के जरिए कानूनी रूप से खत्म किया जाना चाहिए था। ऐसा लगता नहीं है कि अभी तक हुआ है।

इसलिए, ऐसे युवा, जो इस तरह के पोर्टल चला रहे हैं, मीडिया के नाम पर लोगों को आर्थिक रूप से लूट रहे हैं और गुमराह कर रहे हैं। अपना न्यूज़ पोर्टल है यह बता कर सर्व सामन्य जनता की लूट हो रही यही।

हाल ही में सामने आया है कि पोर्टल चलाने वाले लोग सामान्य अधिकारियों, कर्मचारियों और दुकानदारों को पोर्टल पर आपकी खबर पोस्ट करने और अपने वरिष्ठों के साथ शिकायतों को दर्ज करने की धमकी दी जा रही है।

सोशल मीडिया की कोई सरकारी मंजूरी नहीं है। इसलिए, उनके पास समाचार पोर्टल को हटाने और समाचार प्रकाशित करने का अधिकार नहीं है। कोई भी समाचार पत्र या समाचार चैनल भारत सरकार के सूचना और सूचना प्रसारण, नई दिल्ली के अनुमोदन के बाद ही शुरू किया जा सकता है।

स्वीकृति मिलने के बाद, इस चैनल और समाचार पत्र का शपथ पत्र जिला कलेक्टर के कार्यालय में प्रस्तुत करना होगा । इसके बाद ही अखबार और चैनल शुरू किया जा सकता है।

यह एक मान्यता प्राप्त समाचार चैनल या पोर्टल नहीं हो सकता है क्योंकि समाचार पोर्टल ऑपरेटर द्वारा ऐसी कोई प्रक्रिया नहीं की गई है। अगर पोर्टल इस प्रक्रिया के बिना चल रहा है, तो सरकार की साइबर अपराध शाखा उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।

अगर पाठकों के साथ-साथ समझदार नागरिक भी जिला कलेक्टर को लिखित रूप में ऐसे समाचार पोर्टलों की रिपोर्ट करते हैं और साइबर अपराध और अपराध शाखा को भी, तो तत्काल मामला दर्ज किया जाता है।

ऐसा करने से, हम हजारों लोगों को गुमराह करने से रोक पाएंगे। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री ने हाल ही में कहा है कि समाचार पोर्टल फर्जी है। जागरूक नागरिकों को ऐसी शिकायतों को संबंधित पुलिस स्टेशन के पास लिखित में देना चाहिए।

फर्जी समाचार पोर्टल चलाने के लिए पत्रकारों को नियुक्त करने का अधिकार किसने दिया ? वह एक स्व-घोषित संपादक हैं, एक पत्रकार हैं और उन्हें सरकार के किसी भी विभाग के अधिकारियों द्वारा सूचित नहीं किया जाना चाहिए। इस तरह के परिपत्र मुख्य सचिव द्वारा राज्य के हर विभाग को भेजे गए हैं। ऐसा स्पष्ट संकेत सरकार ने दिया है।

यदि किसीभी सामन्य नागरिक को किसी भी प्रकार की शंका ऐसे किसी भी न्यूज़ पोर्टल पे आई तो वो नि शंका अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में जाकर इन फर्जी अर्थात डुप्लीकेट न्यूज़ पोर्टल पर गुन्हा दाखिल कर सकती है।

और हमें अर्थात सामान्य नागरिक को ऐसे फर्जी न्यूज़ पोर्टल पर अंकुश लगाना बहोत जरुरी है क्योकि ऐसे न्यूज़ पोर्टल दिन ब दिन बढ़तेहि जा रहे है। जिन्हे रोकना बहोत जरुरी है।

न्यूज़ पोर्टल खोलना या उसे चलना गलत नहीं है लेकिन उसे शासन की मंजूरी के खिलाफ चलाना और उस पर फर्जी न्यूज़ दिखाना लोगो को गलत जानकारी देना तथा सामान्य नागरिक को धमकाना यह बहोत गलत बात है ,जिसके लिए हम जैसे नागरिकोंको सामने आना बहोत जरुरी है।

आपको क्या सीखने मिला

दोस्तो आज आपको हमारे इस जानकारी से परिपूर्ण आर्टिकल से क्या सीखने मिला ? वैसे तो मै आशा करता हु आपको आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ? यह आर्टिकल पसंद आया होगा क्युकी इसमे सभी जानकारी मुद्दे अनुरूप लिखी गयी है ।

लेकिन फिर भी अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी लगी हो तो वो नीचे कमेंट बॉक्स में बताए साथ ही आगर आपको कुछ भी संकोच या प्रश्न हो तो आप पूछ सकते है । मैं आपके संकोच को दूर करनेकी ओर प्रश्नों का उत्तर देनेका प्रयास करूंगा.आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमे येभी जरूर बताएं. (आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?)

इसीके साथ आप हमारे मोटिवेशन के ब्लॉग भी पढ़ सकते है जिसकी लिंक यह रही.Motivation
ओर इसीके साथ अगर आप ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते है तो हमारा MAKE MONEY ONLINE इस केटेगरी भी जरूर विजिट करे । इसीके साथ आप हमारे Biology के ब्लॉग भी पढ़ सकते है Biology

हमारे इस (आखिर क्यों सरकार फर्जी सोशल मीडिया पर अंकुश लगानेमे असमर्थ है ?) आर्टिकल को पढ़ने के लिए बहोत बहोत शुक्रिया । तो मिलते है हमारे ऐसेही किसी नए INFORMATIVE आर्टिकल में । धन्यवाद ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Family Stay Connected

0FansLike

Most Popular

शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी जो कोई नहीं बताएगा । Sperm Information In Hindi । Best 8 Points

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है शुक्रणुओंकी ऐसी जानकारी...

क्या रामायण से जुड़े हुए ये ६ रहस्य आपको पता है ? पढते ही चौंक जाओगे

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है क्या रामायण से...

सर्फ दो घंटो की बिजली कटौती में मुंबई परेशांन ? आखिर क्यों ?

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है सर्फ दो घंटो...

Corona Ka Ilaj Ghar Per Kaise Karen । कोरोना वायरस होने पर घर पर रहकर कैसे बचे ? अनुभव से जानकारी हिंदी में ।...

तो कैसे है दोस्तो आप । मैं आपका स्वागत करता हु आपका हमारे नए आर्टिकल में जिसका नाम है Corona Ka Ilaj...